Categories
इंग्लिश क्लास

EC39: The के उच्चारण तीन, कहाँ द, कहाँ दि और कहाँ दी?

पिछली क्लास T के बारे में थी जिसका उच्चारण होता है ‘ट’ और कभी-कभी उसका उच्चारण नहीं भी होता है। आज की क्लास Th के बारे में है। Th के दो उच्चारण होते हैं – ‘थ’ और ‘द’। इसी तरह The के भी तीन उच्चारण होते हैं – द, दि और दी। कहाँ किसका क्या उच्चारण होगा, जानने के लिए आगे पढ़ें।

आज की क्लास Th के बारे में है। Th यदि शुरू में होगा तो उसका उच्चारण कुछ कॉमन शब्दों (The, This, That, Than, Them, There, Their आदि) के अलावा ‘थ’ ही होगा। कुछ मामलों में उसका उच्चारण ‘ट’ भी होता है। ये शब्द हैं Thom.as (टॉमस/टामसus) और Thom.son (टॉमसन/टामसनus) जो इंसानों के नाम हैं, Thames (टेम्ज़) जो एक नदी है और Thyme (टाइम) जो कि एक पौधा है।

यहाँ मैं यह भी बता दूँ कि इंग्लिश का ‘थ़’ हिंदी के ‘थ’ से थोड़ा अलग है। उसके बारे में इस क्लास के अंत में बताया है।

अब इस The के बारे में बात करते हैं। इसके तीन उच्चारण हैं — द, दि और दी। इसका सीधा-सा नियम यह है कि अगला शब्द व़ावल से शुरू होता हो तो ‘दि’ होगा और कॉन्सनंट से शुरू होता है तो ‘द’ होगा। लेकिन ध्यान में रखने की बात है कि हमें अक्षर से नहीं, ध्वनि से मतलब है। जैसे H व्यंजन है लेकिन यदि वह साइलंट है और शब्द का उच्चारण अ-आ आदि से हो रहा है, तो वहाँ भी ‘दि’ होगा।

नीचे उदाहरण दे रहा हूँ जिनसे बात और स्पष्ट हो जाएगी।

  • The Wall = वॉल
  • The Apple = दि ऐपल
  • The Horse = हॉर्स
  • The Hour = दि आउअ (आव)

संक्षेप में नियम यह है : 

  1. यदि शब्द का उच्चारण अ, आ, ऑ, इ, ई, उ, ऊ, ए , ऐ या ओ से हो रहा है  तो उसका पहला लेटर चाहे जो भी हो, The का उच्चारण ‘दि’ होगा। बाक़ी सारे मामलों में उच्चारण ‘द’ होगा।
  2. एक और बात ध्यान में रखने की है। यदि आप किसी ख़ास व्यक्ति, विषय या वस्तु पर ज़ोर देते हुए बोल रहे हैं, तब उस शब्द के आगे वाले The का उच्चारण हमेशा ‘दी’ होगा। उदाहरण के तौर पर यह वाक्य देखें —  मैं उस लड़के के बारे में कह रहा हूँ जिसने लाल शर्ट पहनी हुई थी। I am talking about the (दी) boy who was wearing red shirt. यहाँ पहले नियम के मुताबिक ‘द’ होना चाहिए था क्योंकि बॉय के शुरू में कॉन्सनंट B का ‘ब’ उच्चारण है लेकिन वाक्य में ज़ोर उस ख़ास लड़के पर है जिसने लाल शर्ट पहनी थी…. इसलिए यहाँ ‘दी’ होगा।

हिंदी के स्वर और व्यंजनों की जानकारी रखनेवाले पाठकों को दिख गया होगा कि नियम 2 की सूची में ‘औ’ गायब है। वह इसलिए कि इंग्लिश में ‘औ’ का उच्चारण नहीं है। बल्कि ‘ओ’ का उच्चारण भी दरअसल ‘अउ’ और ‘ओउ’ जैसा है। जैसे NO (नो) को एक ब्रिटिश ‘नउ’ बोलेगा जबकि अमेरिकन बोलेगा ‘नोउ’।

आज जब बात th की हो रही है तो मुझे TH से शुरू होने वाला एक शब्द याद आ गया – Thank you.

बात बचपन की है। क्लास टीचर ने हमें सिखाया था कि किसी को थैंक्स करना शिष्टाचार की निशानी है। मैं भी मौक़ा खोजने लगा कि कब किसी को ‘थैंक यू’ बोलूँ और अच्छा बच्चा कहलाऊँ। मौक़ा जल्दी ही आ गया। कॉरिडॉर में मैथ्स टीचर जा रही थीं कि उनके हाथ से किताब गिर पड़ी। मैंने किताब उठाई और उन्हें पकड़ाकर बोला, ‘थैंक यू, मैम!’ मैम मुस्कुराई और वह भी बोलीं, ‘थैंक यू!’ अब मैं कन्फ़्यूज़ हो गया कि ‘थैंक यू’ उनको बोलना चाहिए था या मुझे।

मैंने घर जाकर यह वाक़या डैडी को बताया और पूछा कि ‘थैंक यू’ किसको बोलना चाहिए था। उन्होंने कहा, ‘बेटा, तुमने उनकी मदद की तो थैंक यू तो उनको ही बोलना चाहिए। लेकिन तुमने भी बोल दिया तो कोई बात नहीं। ज़िंदगी में थैंक यू और सॉरी बोलने में कभी भी कंजूसी नहीं करनी चाहिए।’

डैडी की उस बात को याद करते हुए आज मैं अपने उन तमाम पाठकों को थैंक यू कहना चाहूँगा जिन्होंने मुझे मेल लिखकर मेरा हौसला बढ़ाया और उन सारे पाठकों को सॉरी बोलने में भी कोई कंजूसी नहीं करूँगा जिनके मेल का जवाब देने में मुझे अकसर देरी हो जाती है।

यह क्लास अधूरी है। इस क्लास में Th से शुरू होनेवाले शब्दों के बारे में बताया। अगली क्लास में Th से समाप्त होनेवाले शब्दों के उच्चारण के बारे में  बात करेंगे।

इस क्लास का सबक़

Th से शुरू होनेवाले शब्दों में TH का उच्चारण अमूमन ‘थ’ होता है। कुछ Pronoun जैसे This, That, Them और Adverb जैसे There में ‘द’ का उच्चारण होता है। The के तीन उच्चारण होते हैं। व़ावल से पहले ‘दि’, कॉन्सनंट से पहले ‘द’ और किसी शब्द पर ज़ोर देते हुए ‘दी’ का। Th से शुरू होनेवाले कुछ शब्दों का उच्चारण ‘ट’ भी होता है जैसे Thom.as (टॉमस), Thom.son (टॉमसन), Thames (टेम्ज़) आदि।

अभ्यास

किसी भी डिक्श्नरी में Th से शुरू होनेवाले शब्द खोजें और उनके उच्चारण देखें कि उनमें किन शब्दों का उच्चारण ‘थ’ है और किनका ‘द’।

चलते-चलते

अंग्रेज़ी का ‘थ़’ हिंदी के ‘थ’ से थोड़ा अलग है। हिंदी वाला ‘थ’ बोलने के लिए जीभ को ऊपर वाले दाँतों और उससे लगे मसूड़ों को स्पर्श करना होता है जबकि अंग्रेज़ी वाला ‘थ़’ बोलने के लिए जीभ को दोनों दाँतों के बीच लाना होता है। मैंने इस किताब में इंग्लिश के ‘थ़’ के लिए ‘थ’ ही लिखा है।

(Visited 141 times, 1 visits today)
पसंद आया हो तो हमें फ़ॉलो और शेयर करें

अपनी टिप्पणी लिखें

Your email address will not be published.

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial