Categories
इंग्लिश क्लास

EC33: S से ‘स’ होगा य ‘ज़’? बताए ‘फोकट की चाय’

अंग्रेज़ी शब्दों के उच्चारण में एक समस्या यह है कि इसमें एक ही लेटर कई-कई ध्वनियों के लिए इस्तेमाल होता है। जैसे C से ‘स’ भी होता है और ‘क’ भी। इसी तरह G से ‘ज’ भी हो सकता है और ‘ग’ भी। लेकिन इसके भी कुछ नियम हैं कि कहाँ C का उच्चारण ‘क’ होगा, कहाँ ‘स’ होगा। इसी तरह G के बारे में नियम हैं जिनके बारे में हम पिछली क्लासों में पढ़ चुके हैं। आज हम ऐसे ही एक और लेटर के बारे में जानेंगे – S जिसके तीन उच्चारण होते हैं – स, ज़ और श। S का उच्चारण कब क्या होगा, इसके बारे में जानने के लिए आगे पढ़ें।

इंग्लिश में ‘स’ की ध्वनि के लिए दो लेटर हैं – C और S। C का उच्चारण कहाँ ‘क’ होगा और कहाँ ‘स’, यह हम क्लास 20 (EC20 : C का उच्चारण कहाँ ‘क’, कहाँ ‘स’?) में जान चुके हैं। आज S पर बात करेंगे। S का उच्चारण भी हर जगह ‘स’ नहीं होता। कहीं-कहीं ‘ज़’ (Hus.band=हज़बंड) और श (Sug.ar=शुग) भी होता है।

अब सवाल यह है कि क्या कोई तरीक़ा है जिससे हम जान सकें कि कहाँ S का उच्चारण ‘स’ होगा, कहाँ ‘श’ होगा और कहाँ ‘ज़’। इस बारे में कहीं कोई पक्का नियम तो नहीं है मगर मैंने कुछ कामचलाऊ फ़ॉर्म्युले बनाए हैं। उम्मीद है कि ये आपकी कुछ हद तक मदद करेंगे। 

1. शुरू में हो हमेशा स

S जब किसी शब्द के शुरू में हो तो उसका उच्चारण हमेशा स होगा। दो-तीन मामले हैं जिनमें शुरू वाले S का उच्चारण ‘श’ होता है। जैसे Sug.ar=शुग/शुगरus और Sure=शुअ/शॉ/शुअरus/शरus/शॉरus। इनसे बनने वाले शब्दों जैसे Sug.ar.cane, Sug.a.ry या Sur.e.ty, En.sure में भी यही उच्चारण होगा। S के बाद H (और कभी-कभी CH होने पर भी) उसका उच्चारण श या स्क होता है जैसे Show= शो, Sched.ule=शेड्यूल/शेजूल/स्केजुल/स्केड्यूल, Scheme=स्कीम आदि।

2. बीच में हो तो ‘स’ या ‘ज़’

S जब शब्द के बीच में हो तो उसका उच्चारण इससे तय होता है कि उसके बाद कौनसी ध्वनि है। कुछ ध्वनियों से पहले वह ‘स’ होता है और कुछ के पहले ‘ज़’। आइए, देखें वे कौनसी ध्वनियाँ (साउंड) हैं और हम उन्हें कैसे याद रखेंगे। नीचे की लिस्ट में जो पीले रंग में हैं, उन ध्वनियों से पहले S का उच्चारण ‘स’ होगा। जिनका रंग हलका नीला है है, उन ध्वनियों से पहले ‘ज़’ होगा। मज़ेदार बात यह है कि जिनका हिंदी व्याकरण ज्ञान अच्छा है, वे इंग्लिश के इस नियम को आसानी से याद रख पाएँगे।

नीचे मैंने हिंदी वर्णमाला दी है। आप देखेंगे कि कवर्ग से पवर्ग तक में शुरुआती दो (अघोष) वर्ण ‘स’ वाले हैं और बाद वाले घोष वर्ण ‘ज़’ वाले। यानी क, च, ट, थ आदि (पीले रंग वाली) ध्वनियों से पहले S का उच्चारण ‘स’ होगा। इसी तरह ग, ज, ड, न आदि (हलके नीले रंग वाली) ध्वनियों से पहले आने पर S का उच्चारण ‘ज़’ होगा। ख, घ, छ, झ, ठ, ण, ध, भ, ष, क्ष, त्र जैसी ध्वनियाँ इंग्लिश में होती ही नहीं और ङ, ञ, श आदि ध्वनियाँ S के बाद आती नहीं इसलिए उनका मौका कभी आएगा ही नहीं। इंग्लिश में फ भी नहीं होता। उसकी जगह फ़ होता है। दोनों के उच्चारण में क्या फ़र्क़ है, यह हम क्लास 24 में पढ़ चुके हैं।

यदि आप वर्णमाला के आधार पर याद न रख पाएँ तो आप याद कीजिए कि कब आपने ‘फोकट की चाय पी थी’ । जी हाँ, ‘फोकट की चाय पी थी’ में जो सात ध्वनियाँ आती हैं, उन ध्वनियों से पहले S का उच्चारण होगा ‘स’। बाक़ी मामलों में उच्चारण होगा ‘ज़’। वैसे मैं तो कहूँगा कि आप हिंदीभाषी हैं तो क्यों नहीं हिंदी की वर्णमाला ही सीख लेते?

तो फ़ॉर्म्युला नंबर 2 यह कि शब्द के बीच में यदि S के बाद फ़, क, ट, च, य, प या थ की ध्वनि आए तो S का उच्चारण ‘स’ होगा। बाक़ी सारे मामलों में उसका उच्चारण होगा ‘ज़’। कुछ ध्वनियाँ S के बाद आती ही नहीं जैसे स, ह, र, ङ, ञ, द, ज्ञ आदि। आइए, इस फ़ॉर्म्युले की जाँच करते हैं।

यहाँ होगा स 

शब्दउच्चारणध्यान दें
Es.capeइस्केप/एस्केपS के बाद है क
Es.chewइस्चू/एस्चू S के बाद है च
Plas.ticप्लैस्टिक S के बाद है ट
Aes.the.ticएस्थेटिक S के बाद है थ
Re.spectरिस्पेक्ट S के बाद है प
Phos.phineफ़ॉसफ़ीनS के बाद है फ़
Is.sueइस्यूS के बाद है य

यहाँ होगा ज़ 

शब्दउच्चारणध्यान दें
Glas.gowग्लाज़्गो/ग्लैज़्गोS के बाद है ज
Phos.geneफ़ॉज़जीनS के बाद है ज़
Tues.dayट्यूज़डे/टूज़डेS के बाद है ड
Dis.neyडिज़नीS के बाद है न
Hus.bandहज़बंडS के बाद है ब
Cos.met.icकॉज़मेटिकS के बाद है म
Is.ra.elइज़रीअल/इज़रेअलS के बाद है र
Mus.limमुज़लिम/मुसलिम/मज़लिमS के बाद है ल
Os.waldऑज़वल्ड/ऑज़वॉऽल्डusS के बाद है व

Glas.gow का एक उच्चारण ग्लैस्को भी है। चूँकि -gow का उच्चारण किसी कारण से गो नहीं, को हो रहा है तो Glas- के S का उच्चारण भी ‘ज़’ के बजाय ‘स’ हो गया – ग्लैस्को न कि ग्लैज़्गो। इससे हमारे फ़ॉर्म्युले की पुष्टि होती है।

यहाँ एक और बात पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी है कि जो शब्द Mis, Dis आदि प्रीफ़िक्स से शुरू होते हैं, उनमें Mis और Dis का उच्चारण हमेशा मिस- और डिस- ही रहेगा, भले ही उसके बाद D, M, N, R आदि हों। मिसाल के तौर पर Mis.deed या Dis.miss में ड (D) या म (M) की ध्वनि के बावजूद S का उच्चारण ज़ नहीं होगा। इसे मिसडीड और डिसमिस ही बोलेंगे, मिज़डीड या डिज़मिस नहीं। 

अब बचता है मामला उन शब्दों का जिनमें S के बाद कोई व़ावल हो। इनके बारे में कोई ठीकठाक फ़ॉर्म्युला बनता नहीं दिखता। इसलिए मैंने तय किया है कि आपको कुछ ऐसे शब्दों की लिस्ट दे दूँगा जिन्हें अमूमन ग़लत बोला जाता है। इसे दो-तीन बार पढ़ लेंगे तो आपको खुद ही पता चल जाएगा कि कहाँ क्या बोलना है। इसके बाद फ़ॉर्म्युले के बिना भी आपका काम चल जाएगा। वह लिस्ट अगली क्लास में।

इस क्लास का सबक़

S यदि शब्द के शुरू में हो तो (क) अधिकतर मामलों में उसका उच्चारण ‘स’ होता है। (ख) तीन-चार मामलों में उसका उच्चारण ‘श’ भी होता है जैसे Su.gar, Sure आदि। (ग) S यदि बीच में हो तो उसका उच्चारण इस बात पर तय होता है कि उसके बाद कौनसी ध्वनि है। कुछ ध्वनियों से पहले वह स होता है और कुछ के पहले ज़। ध्वनियों के लिए ऊपर ‘यहाँ होगा स’ और ‘यहाँ होगा ज़’ की सूचियाँ देखें। इसे ‘फोकट की चाय पी थी’ से याद रख सकते हैं। (घ) S के बाद CH आए तो ‘श’ (Sched.ule=शेड्यूल) और ‘स्क’ (School=स्कूल) दोनों होता है।

अभ्यास

अख़बार से S वाले 50 शब्द चुनें और उनके उच्चारण ऊपर बताए गए नियमों के मुताबिक़ करें। फिर डिक्श्नरी से मिलाएँ।

चलते-चलते

क्रिकेट (सही उच्चारण क्रिकिट) में पारी को In.nings (इनिंग्ज़) कहते हैं, यह तो आप जानते ही होंगे। लेकिन यह शब्द बहुवचन में ही नहीं, एकवचन में भी इस्तेमाल होता है। यानी यदि एक पारी होगी तो उसे भी इनिंग्ज़ ही कहेंगे, इनिंग नहीं। कई लोग पहली या दूसरी इनिंग बोलते हैं जो कि ग़लत है। सही प्रयोग है — पहली इनिंग्ज़, दूसरी इनिंग्ज़ या दोनों इनिंग्ज़। हाँ, बेसबॉल आदि कुछ खेलों में इनिंग शब्द प्रचलित है।

(Visited 32 times, 1 visits today)
पसंद आया हो तो हमें फ़ॉलो और शेयर करें

अपनी टिप्पणी लिखें

Your email address will not be published.

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial