Categories
इंग्लिश क्लास

EC1 : A से एप्पल यानी शुरुआत ही ग़लत

‘आलिम सर की इंग्लिश क्लास’ का मक़सद उन छोटी-छोटी ग़लतियों की तरफ़ आपका ध्यान खींचना है जो कुछ लोग सिर्फ़ इसलिए करते हैं कि उन्हें आज तक किसी ने बताया नहीं कि वे ग़लत बोल रहे हैं। और यह सब हम आपको बताएँगे कुछ फ़ॉर्म्युलों के ज़रिए ताकि सीखना आसान लगे। तो चलिए, शुरू करते हैं इस ‘फन्नी लेंग्वेज’ का पहला लेसन Fun.ny शब्द से जिसका सही उच्चारण फन्नी नहीं,  फ़नी है।

‘सर, अंग्रेजी तो ऐसी आवै है कि आइ केन लीव अंग्रेज बिहाइंड। लुक सर, आइ केन टाक इंग्लिश, आइ केन वाक इंग्लिश, आइ केन लाफ इंग्लिश, बिकाज इंग्लिश इज वेरी फन्नी लेंग्वेज…’ अगर नमकहलाल फ़िल्म आपने देखी होगी तो वह सीन भी आपको याद होगा जिसमें अमिताभ नौकरी के लिए इंटरव़्यू में ऐसी गलत-सलत लेकिन मज़ेदार इंग्लिश बोलते हैं कि लोग हँसते-हँसते लोटपोट हो जाते हैं। अगर आपने वह मूव़ी नहीं देखी हो तो नीचे उसका व़िडियो देखें।

लेकिन वह तो मूव़ी थी और अमिताभ हमें हँसाने के लिए ही ऐसी अंग्रेज़ी बोल रहे थे। मगर क्या आप चाहेंगे कि आप भी उसी तरह बोलें और लोग आप पर हँसें! नहीं न? इसीलिए हमने आपके लिए तैयार की हैं ये क्लासें । तो चलिए, शुरू करते हैं इस ‘फन्नी लेंग्वेज’ का पहला लेसन Fun.ny शब्द से जिसका सही उच्चारण फन्नी नहीं,  फ़नी है ।

दो अक्षर, एक उच्चारण 

इंग्लिश में जब कोई अक्षर दो बार आता है तो उसे हिंदी की तरह ड्योढ़ा नहीं बोला जाता — यानी पहला आधा और दूसरा पूरा। जैसे डैडी की स्पेलिंग भी आप जानते होंगे — Dad.dy लेकिन उसे सभी लोग डैडी ही कहते हैं। सोचिए, यदि Dad.dy से डैडी होता है (डैड्डी नहीं) तो Mum.my से मम्मी क्यों  होना चाहिए? उसे भी ममी होना चाहिए और है भी। इसी तरह Bot.tle  को आप बॉट्टल नहीं बोलते तो Hap.py को हैप्पी क्यों बोलते हैं? वह भी हैपी होगा।  Doll को भी आप डॉल्ल नहीं बोलते तो Sun.ny को सन्नी क्यों बोलते हैं? नीचे कुछ और ऐसे शब्द पेश हैं जिन्हें लोग ग़लत बोलते हैं :

शब्दग़लत उच्चारणसही उच्चारण
Mum.myमम्मीममी
Pup.pyपप्पीपपी
Hip.poहिप्पोहिपो
Sun.nyसन्नीसनी
Kit.tyकिट्टीकिटी
Hip.pyहिप्पीहिपी
Chillचिल्लचिल
Ap.pleएप्पलऐपल

तो आपने देखा कि हमें जो नर्सरी या पहली क्लास से ही A से एप्पल सिखाया जाता है, वह ग़लत है। उसे ऐपल बोला जाएगा। लेकिन हाँ, हिंदी में चुंबन के लिए जिस पप्पी शब्द का यूज़ होता है, उसे पप्पी ही बोलिएगा। यह नहीं कि बीवी या प्रेमिका से पप्पी के बजाय पपी माँगने लगें कि आलिम सर ने सिखाया है। तब वह भी किस करने के बजाय Pup.py यानी पिल्ला  ही पकड़ा देगी। फिर मुझसे शिकायत मत कीजिएगा…

चलिए, मज़ाक छोड़ें और यह बात गाँठ बाँध लें कि इंग्लिश में जब भी किसी शब्द में कोई अक्षर दो बार आए, उसका सिंगल उच्चारण करना है। इसके दो-तीन अपवाद हैं – जैसे Cool.ly को कूली नहीं बोला जाएगा न ही Thin से बने Thin.ness को थिनिस बोला जाएगा। इन्हें कूल्ली और थिन्निस (थिननेस नहीं) ही बोलेंगे।

  1. ऊपर शब्दों में मैंने शब्द के कुछ हिस्से को गहरा काला (बोल्ड) किया है और हिस्सों के बीच डॉट (.) के निशान लगाए हैं लेकिन उनको लेकर अभी परेशान न हों। आगे स्ट्रेस (Stress) और सिल्अबल (Syllable) संबंधी क्लास EC44-EC56 में इसके बारे में विस्तार से बताया गया है।
  2. ब्रिटिश इंग्लिश में आख़िरी र का उच्चारण नहीं किया जाता या बहुत कम किया जाता है।
  3. अमेरिकी उच्चारण में कई बार T का उच्चारण ड से मिलता-जुलता होता है। यह कहाँ होता है, उसकी चर्चा  क्लास EC40  में की गई है।

इस क्लास का सबक़

अंग्रेज़ी में जब भी किसी शब्द में एक ही अक्षर दो बार आता है तो उसका सिंगल उच्चारण होता है, ड्योढ़ा या डबल नहीं। मम्मी और हैप्पी ग़लत उच्चारण हैं। यह भी ध्यान रहे कि कई बार दो C (cc)  जब साथ आते हैं तो उनका अलग-अलग उच्चारण होता है जैसे Ac.ci.dent (ऐक्सिडंट)। इसका भी नियम है जिसकी चर्चा  क्लास EC21 में की गई है (पढ़ें)

अभ्यास 

ऐसे 50 शब्दों की लिस्ट बनाएँ जिनमें कोई अक्षर दो बार आया हो। फिर उनका उच्चारण करें और देखें कि कैसे उन सबमें दो अक्षरों का एक ही उच्चारण हो रहा है। शब्द खोजने में परेशानी हो तो इस साइट पर जाएँ – इसपर -bb- वाले शब्द मिल जाएँगे। इसी तरह /bb की जगह /cc करने से cc वाले शब्द मिल जाएँगे।

चलते-चलते

अंग्रेज़ों ने भारत में शासन किया और इस कारण इंग्लिश यहाँ पर शासन और कामकाज की भाषा हो गई। इसके कई शब्द भी हिंदी में आए। लेकिन हिंदी और दूसरी भारतीय भाषाओं के कई शब्द भी इंग्लिश में गए हैं। इनमें दो हैं – Kut.cha और Puk.ka या Puck.a यानी कच्चा और पक्का। लेकिन वहाँ चूँकि दो अक्षरों का एक ही उच्चारण होता है, इसलिए Puk.ka को बोलते हैं पका और Kut.cha को कचा।

(Visited 99 times, 2 visits today)
पसंद आया हो तो हमें फ़ॉलो और शेयर करें

2 replies on “EC1 : A से एप्पल यानी शुरुआत ही ग़लत”

अपनी टिप्पणी लिखें

Your email address will not be published.

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial